मुखपृष्ठ » CEO & MD Profile

श्री राजन के. पिल्लै, भारत में भूमिगत खनिज तेल भंडारणों के क्षेत्र में अग्रणी कंपनी इंडियन स्‍ट्रेटेजिक पेट्रोलियम रिज़र्वस लिमिटेड (आईएसपीआरएल) के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक है।

 श्री पिल्लै ने अपना करियर वर्ष 1978 में हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड की विशाख रिफाइनरी में प्रबंधन प्रशिक्षु के रूप में प्रारंभ किया। वह एचपीसीएल में कार्यपालक निदेशक के पद पर रहे और उनके पास रिफाइनरी अनुरक्षण, रिफाइनरी परियोजनाओं, परियोजना खरीद तथा व्‍यापार विकास में व्‍यापक अनुभव है।

आईएसपीआरएल में कार्यभार ग्रहण करने से पूर्व वह एचपीसीएल टोटल संयुक्‍त उद्यम के परियोजना प्रमुख के रूप में साउथ एशिया एलपीजी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के गठन में रत रहे थे, जो एचपीसीएल और फ्रांस की टोटल के मध्‍य एक संयुक्‍त उद्यम है। बाद में, वह एसएएलपीजी के उप सीईओ के रूप में एलपीजी केवर्न परियोजना के निष्‍पादन हेतु उत्‍तरदायी रहे थे जो देश में पहली भूमिगत केवर्न भंडारण परियोजना और विश्‍व में सबसे गहरे भूमिगत चट्टान केवर्न में से एक है। यह भारत की सबसे बड़ी एलपीजी भंडारण सुविधा भी है। इस केवर्न का निर्माण केवल ऊधर्वाधर शाफ्टों के माध्‍यम से किया गया था और इसे अभियांत्रिकी का एक चमत्‍कार माना जाता है।

श्री पिल्लै को भूमिगत चट्टान केवर्न भंडारण सुविधाओं में उनके व्‍यापक अनुभव को देखते हुए विशेष रूप से आईएसपीआरएल के प्रमुख के पद हेतु प्रतिनियुक्‍ति पर चुना गया था।

आईएसपीआरएल के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक के रूप में, श्री पिल्लै आईएसपीआरएल की परियोजनाओं के निष्‍पादन के लिए उत्‍तरदायी है जिसमें देश में सबसे बड़ी भूमिगत कंदराओं तथा लगभग 30 किलोमीटर की सुरंग का निर्माण शामिल है। उनका वर्तमान फोकस केवर्न को भरने हेतु संसाधनों को जुटाने के सबसे चुनौतीपूर्ण कार्यों पर है जिसके लिए लगभग 25,145/- करोड़ रूपए की आवश्‍यकता होगी।

श्री पिल्लै पढ़ने के शौकीन है और फोटोग्राफी में अत्‍यधिक रूचि रखते है।

वह बीएचयू से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी-टेक डिग्री धारक है और एशियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, बैंकॉक से एनर्जी प्‍लानिंग एवं पॉलिसी में इंजीनियरिंग में स्‍नातकोत्‍तर डिग्री धारक है।